trending now

लखनऊ हिंदी दैनिक‘आज’ के वरिष्ठ संवादाता कल्याण सिंह ने खुद को गोली मारी

कमल नाथ होंगे मध्यप्रदेश के नए मुख्यमंत्री

अब जेल में ही बीतेगी बाकी उम्र, हत्या के एक और मामले में रामपाल को उम्र कैद की सजा

नहीं रहे गंगा के असली पुत्र जीडी अग्रवाल गंगा को बचाने के लिए 111 दिनों से कर रहे थे अनशन

भीड़ तन्त्र में कोई भी सुरक्षित नहीं हरियाणा DIG की हुई पिटाई

Total Visitors : 5 2 5 4 5

टोल पर उनकी गन्ने से भरी हुई ट्रॉलियों से टोल वसूला जाता है ...

यमुनानगर के टोल प्लाजा पर किसानों की गन्ने से भरी हुए ट्रैक्टर ट्रालियों से टोल वसूलने पर भारतीय किसान यूनियन के सदस्यों ने जमकर हंगामा किया। किसानों ने टोल पर आड़ी तिरछी ट्रॉलियों को लगाकर जाम लगा दिया। इसके बाद टोल पर जमकर हंगामा हुआ। किसानों का अारोप था कि टोल पर उनकी गन्ने से भरी हुई ट्रॉलियों से टोल वसूला जाता है, जो गलत है। किसान आज बिना टोल दिए ही टोल से अपने गन्ने की भरी हुई ट्रॉलियों को लेकर निकल गए लेकिन इस बीच कई बस चालकों का भी टोल वालों से विवाद हो गया। यमुनानगर के  किसानों की इस बात को जब टोल कर्मचारी ने नहीं माना तो किसानों ने सभी टोल लाइन में गन्ने से भरी हुई ट्रॉलियों को फंसा कर पूरा टोल ही जाम कर दिया। इसके चलते टोल की दोनों तरफ वाहनों की लंबी-लंबी लाइन लग गईं। सूचना मिलते ही पुलिस भी मौके पर पहुंची लेकिन पुलिस के समझाने के बाद भी किसान टोल से नहीं हटे। दो घंटे से ज्यादा जाम लगा होने के कारण वाहनों में बैठे लोग भी काफी परेशान हो गए। ऐसे में अपनी गाड़ियों से निकल कर बाहर आई औरतों ने सीधे-सीधे यहां तक कह दिया कि अगर उन्हें कुछ हो गया तो उसके जिम्मेदार किसान अथवा टोल के कर्मचारी होंगे। जैसे तैसे पुलिस ने दोनों पक्षों को बैठकर उनका समझौता करवा दिया।

Related News

Leave a Reply