trending now

लखनऊ हिंदी दैनिक‘आज’ के वरिष्ठ संवादाता कल्याण सिंह ने खुद को गोली मारी

कमल नाथ होंगे मध्यप्रदेश के नए मुख्यमंत्री

अब जेल में ही बीतेगी बाकी उम्र, हत्या के एक और मामले में रामपाल को उम्र कैद की सजा

नहीं रहे गंगा के असली पुत्र जीडी अग्रवाल गंगा को बचाने के लिए 111 दिनों से कर रहे थे अनशन

भीड़ तन्त्र में कोई भी सुरक्षित नहीं हरियाणा DIG की हुई पिटाई

सभापति ने 5 सदस्यों को 2 दिन के लिए निलंबित कर दिया था ...

बिहार विधान परिषद के सभापति ने आरजेडी के सभी पांचों सदस्यों का निलंबन समाप्त कर दिया है। इसी के साथ ही बिहार की पूर्व सीएम राबड़ी देवी ने धरना समाप्त कर दिया है। बिहार विधानमंडल के शीतकालीन सत्र के तीसरे दिन विधान परिषद की कार्यवाही के दौरान विधान परिषद में पूर्व सीएम राबड़ी देवी  के साथ आरजेडी के कई सदस्य वेल में पहुंच गए थे। इसके बाद सभापति हारुन रशीद ने पार्टी के पांच सदस्यों को निलंबित कर दिया था। भारी हंगामे के बीच विधान परिषद को पहले दोपहर 12 बजे और फिर गुरुवार तक के लिए स्थगित कर दिया गया। विधान परिषद में हुए हंगामे के दौरान सभापति ने 5 सदस्यों को 2 दिन के लिए निलंबित कर दिया गया था। राबड़ी देवी के नेतृत्व में सदन में जमकर हंगामा किया गया था। सदन की कार्यवाही के दौरान राबड़ी देवी वेल में धरने पर बैठ गईं थीं और उनकी ही पार्टी राजद के कई सदस्य भी वेल में घुस गए थे। राबड़ी के साथ राधाचरण सेठ, सुबोध राय, दिलीप राय, कमरे आलम, खुर्शीद मोहसिन भी हंगामा कर रहे थे। इस दौरान पांच सदस्यों को सदन से निलंबित कर दिया गया था। हंगामे के बीच कांग्रेस के प्रेमचंद मिश्रा समेत रामचंद्र पूर्वे, सुबोध कुमार, दिलीप राय,, कमर आलम और खुर्शीद मोहसिन भी राबड़ी देवी के साथ धरना पर बैठे थे. सदन से राधाचरण सेठ, सुबोध राय, दिलीप राय, कमरे आलम, खुर्शीद मोहसिन को दो दिन के लिए निलंबित किया गया था। ये सभी आरजेडी के सदस्य हैं। विधान परिषद के सभापति ने परिषद की अवमानना के खिलाफ ये कार्रवाई की थी। इससे पहले बुधवार को विधान परिषद की कार्यवाही शुरू होने के साथ ही विपक्ष का हंगामा शुरू हो गया था। विपक्ष ने कानून-व्यवस्था को लेकर वेल में आकर हंगामा किया था।

Related News

Leave a Reply