trending now

लखनऊ हिंदी दैनिक‘आज’ के वरिष्ठ संवादाता कल्याण सिंह ने खुद को गोली मारी

कमल नाथ होंगे मध्यप्रदेश के नए मुख्यमंत्री

अब जेल में ही बीतेगी बाकी उम्र, हत्या के एक और मामले में रामपाल को उम्र कैद की सजा

नहीं रहे गंगा के असली पुत्र जीडी अग्रवाल गंगा को बचाने के लिए 111 दिनों से कर रहे थे अनशन

भीड़ तन्त्र में कोई भी सुरक्षित नहीं हरियाणा DIG की हुई पिटाई

Total Visitors : 231

रेलवे से लेकर एयरपोर्ट तक हांफते रहे अफसर,नहीं मिली सफलता... ...

भीम आर्मी के चीफ चंद्रशेखर वाराणसी के खुफिया तंत्र पर पड़ गया भारी। चंद्रशेखर शहर की सीमा में कैसे दाखिल हुआ, इसे जानने के लिए खुफिया विभाग के अफसर रेलवे स्टेशन से लेकर बाबतपुर एयरपोर्ट तक हांफते रहे, लेकिन कोई खबर नहीं मिली। आलम यह था कि खुफिया विभाग के अफसरों ने दिल्ली और लखनऊ से आने वाली सभी फ्लाइटों की टिकटों को खंगाला, लेकिन कोई कामयाबी नहीं मिली।
भीम आर्मी के चीफ चंद्रशेखर ही नहीं बल्कि कार्यकर्ता भी खुफिया एजेंसियों को चकमा देने में लगे हुए थे। किसी कार्यकर्ता ने कहा चंद्रेशखर रावण सुबह की फ्लाइट से दिल्ली से बनारस आ रहे हैं  तो कोई कहता ट्रेन से आने वाले हैं। दूसरी ओर सुरक्षा के लिहाज़ से खुफिया एजेंसियों ने शनिवार को वाराणसी आने वाली सभी फ्लाइट के टिकटों की जांच शुरू की तो पता चला चंद्रशेखर ‘रावण‘ नाम का कोई टिकट ही नहीं बुक किया गया है।

यहाँ भी पढ़े-बदले की ज्वाला में खुद भी जल गया महिला ड्रग अधिकारी का कातिल

यही नहीं वाराणसी रेलवे स्टेशन व बस अड्डों पर भी खुफिया एजेंसियों ने चौकसी बढ़ाई हुई थी लेकिन नाकामयाबी हाथ लगी। सूत्रों से प्राप्त सूचना के अनुसार रावण शुक्रवार को दोपहर में ही सड़क के रास्ते वाराणसी पहुंच गया था और सारनाथ के किसी होटल में रुका था। इस बीच सुबह 11 बजे से शुरू होने वाले रोड शो में जब रावण नहीं पहुंचा तो खुफिया तंत्र के अधिकारी रावण के लोकेशन को लेकर खासे परेशान दिखे। रावण रोड शो के तय समय से करीब डेढ़ घण्टे बाद अंबेडकर चौराहे पहुंचा।

Related News

Leave a Reply