trending now

लखनऊ हिंदी दैनिक‘आज’ के वरिष्ठ संवादाता कल्याण सिंह ने खुद को गोली मारी

कमल नाथ होंगे मध्यप्रदेश के नए मुख्यमंत्री

अब जेल में ही बीतेगी बाकी उम्र, हत्या के एक और मामले में रामपाल को उम्र कैद की सजा

नहीं रहे गंगा के असली पुत्र जीडी अग्रवाल गंगा को बचाने के लिए 111 दिनों से कर रहे थे अनशन

भीड़ तन्त्र में कोई भी सुरक्षित नहीं हरियाणा DIG की हुई पिटाई

Total Visitors : 5 1 3 9 7

बिहार, हैदराबाद, बेंगलुरू सहित देशभर में ऑनलाइन धोखाधड़ी ...

किराये पर बैंक खाता, एक कॉल से हुआ बड़ा खुलासा, जालसाजों ने बरोजगारी का ऐसे उठाया फायदा

भोपाल: किराये पर बैंक खाता! जी हां आपने सही सुना, मध्यप्रदेश के भिंड जिले में बेरोजगार युवाओं के नए खोले गए बैंक खातों का उपयोग साइबर जालसाज़ कर रहे हैं. इन नौजवानों को हर महीने महज़ 1200-1300 रुपये देकर साइबर अपराधी उनके खातों का इस्तेमाल साइबर क्राइम के जरिए ठगी के पैसों को रखने के लिए कर रहे हैं. इसका खुलासा बेंगलुरु की एक महिला के कॉल के बाद हुआ

पीड़ित से जालसाज़ों ने चार लाख रुपये की ठगी की जिसमें 40,000 रुपये भिंड जिले के एक बैंक खाते में जमा किए गए. जब साइबर सेल ने मामले की जांच शुरू की तो न केवल उस बैंक खाते का पता लगाया, जिसमें बेंगलुरु की महिला के बैंक खाते से पैसे निकले थे, बल्कि भिंड में छह से सात सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों में ऐसे 23 से अधिक खाते मिले जो बेरोज़गार युवकों के नाम पर थे. जालसाज़ 1200 रुपये देकर युवकों के खाते से जुड़े दस्तावेज अपने पास रखे थे।

पुलिस की पड़ताल में सामने आया है, जो भी अकाउंट इस्तेमाल किए गए हैं, उसके लिए दिल्ली में रहने वाले एक शख्स ने इन युवकों से संपर्क किया था. बेरोजगारों से कहा गया आप अपना अकाउंट दो, इसके एवज में 12 सौ रुपये महीना मिलेंगे। बेरोजगारों ने बैंक में अकाउंट खुलवाकर पासबुक, चेकबुक, एटीएम कार्ड और मोबाइल की वह सिम दे दी, जिसके नंबर से अकाउंट लिंक है। इन खातों के जरिए बिहार, हैदराबाद, बेंगलुरू सहित देशभर में ऑनलाइन धोखाधड़ी के बाद ट्रांजेक्शन की बात सामने आ रही है. इनमें ज्यादातर अकाउंट विरधनपुरा, कुअंरगढ़ के युवकों के हैं।

Related News

Leave a Reply