trending now

लखनऊ हिंदी दैनिक‘आज’ के वरिष्ठ संवादाता कल्याण सिंह ने खुद को गोली मारी

कमल नाथ होंगे मध्यप्रदेश के नए मुख्यमंत्री

अब जेल में ही बीतेगी बाकी उम्र, हत्या के एक और मामले में रामपाल को उम्र कैद की सजा

नहीं रहे गंगा के असली पुत्र जीडी अग्रवाल गंगा को बचाने के लिए 111 दिनों से कर रहे थे अनशन

भीड़ तन्त्र में कोई भी सुरक्षित नहीं हरियाणा DIG की हुई पिटाई

Total Visitors : 5 1 3 7 9

वार्ड 89 कुलीबाज़ार के हालात दर्दनीये,हक्कीकत स्वच्छ भारत की ...

फ़ैले बीमारी या जान जाए हमारी,गुहार लगाये जनता बेचारी,पर नेता जी को भी न सुनने की बीमारी:जय हो


 वार्ड 89 कुलीबाज़ार के हालात दर्दनीये,दर्शाती स्वच्छ भारत की ज़मीनी हक्कीकत
 

कानपुर नगर का वार्ड संख्या 89 बना नरक क्षेत्रीय जनता का जीवन बेहाल,चारो ओर गंदगी का अम्बार बारिश के चलते उफान मरती नालियां,सोने पर सुहागा केस्को का खोलो डालो निकालो अभियान,बीमारी और बड़े हादसों को दावत देना, न कोई सुध लेने वाला,महापौर विधायक पार्षद सब कर रहे प्रधानमंत्री के स्वच्छ भारत अभियान की अनदेखी,स्वच्छ भारत को मुंह चिढ़ाती वार्ड संख्या 89 की दर्दनीये तस्वीर,सरकारी निधि का रोना अलाप विधायक क्षेत्रीय सपा पार्षद (प्रतिनिधि) भी क्षेत्र की समस्या का निवारण साफ सफाई करने में है असमर्थ।

क्षेत्रीय जनता के साथ साथ दैनिक अवगम करने वाले पैदल यात्री, स्कूल वाहन एवं सभी प्रकार के वाहन चालकों को भी आवागमन में काफी कठनाइयों से दो चार होना पड़ता है,रास्ता सकरा होने और कूड़े गंदगी के चलते रोज़ जाम की स्तिथि बनी रहती है(अनवरगंज थाने के सामने से कुलीबाज़ार बकरमंडी  वाले सकरे रास्ते पर)।परंतु किसी भी संबंधित अधिकारी एवं नेता को न तो जनता की तकलीफ से लेना देना है और न ही अपनी जिम्मेदारी का एहसास।

लगातार शिकायतों के बाद भी वार्ड नम्बर 89 की सभासद सायमा परवीन के प्रतिनिधि व विधायक के कान में जूं तक नही रेंग रही,गंदगी ऎसी के जीना दूभर,क्षेत्रीय जनता के द्वारा बताया गया तीन दिन पूर्व  विधायक अमिताभ बाजपेई द्वारा वार्ड संख्या 89  कुलीबाज़ार  की मुख्य सड़क जो हलसी रोड से कोपरगंज को जोड़ती है के एक छोटे से भाग में कुछ व्यक्ति विशेष के अनुरोध पर सफाई कराई गई है,परंतु उस ही कुलीबाज़ार का बकर मंडी़ क्षेत्र जो कि तंग गलियों वाली सड़क में व्याप्त  गंदगी की तरफ नज़रे इनायत तक नही की, शीशे वाली मस्जिद से लेकर लाटूश रोड तक गंदगी का अंबार,बीते कई दिनों का कूड़ा अभी तक उठाया नही गया हैं,जिसके चलते क्षेत्र में सड़ांध, चोक नालियों से जल भराव,संक्रमित बिमारी से क्षेत्रीय  जनता हैरान परेशान हो रही है, ऊपर से बरसात के कारण कीचड़ ने माहौल और बिगाड़ दिया है।क्षेत्रीय पार्षद वार्ड 89 के प्रतिनिधि उमर शरीफ और विधायक ने तो मानो आंखों में पट्टी बांध ली है,जनसमस्याओं की अनदेखी एवं निरंतर सूचित किये जाने के पश्चात भी,जिसके चलते क्षेत्रीय लोगो मे काफी आक्रोश है,जल्द सभी समस्याओं का निवारण न किये जाने पर जनता ने आंदोलन का मन बना लिया है यदि जल्द ही सफाई नही कराई गई तो जनता सड़कों पर उतर कर विरोध करेगी।

पार्षद परिचय वार्ड संख्या 89 –

समाजसेवा से राजनीति की दिशा में कदम रखने वाले उमर शरीफ़ समाजवादी पार्टी के अनुभवी नेता व कार्यकर्ता है,वर्तमान में वह कानपुर के वार्ड- 89, कोपरगंज से पार्षद प्रतिनिधि हैं तथा उनकी पत्नी साइमा परवीन वार्ड की पार्षद हैं.अपना निजी व्यवसाय होने के साथ ही उमर शरीफ व्यवहार कुशल स्वभाव है,लोगों की सहायता के लिए सदैव तत्पर रहते थे, जिससे क्षेत्र में उनकी लोकप्रियता बढ़ी और क्षेत्र की जनता के कहने पर ही उन्होंने चुनाव लड़ने का फैसला लिया.
परन्तु अब जनता अपने को ठगा सा महसूस कर रही है,व्यव्हार कुशलता में तो आज भी पार्षद प्रतिनिधि जनता के बीच लोकप्रिय है,परंतु कार्यक्षेत्र में अब उनकी धार कुंद हो चली है,जिसका कारण जानता कुछ और पार्षद प्रतिनिधि कुछ और ही बताते है।

क्षेत्रीय मुद्दे वार्ड संख्या 89 कुलीबाज़ार –

पार्षद प्रतिनिधि उमर शरीफ के अनुसार, वार्ड के विकास में सबसे बड़ी बाधा है बजट व पर्याप्त संसाधनो का अभाव, इसके साथ ही सफाई कर्मचारियों की बड़ी संख्या में कमी है,सरकार द्वारा हर वार्ड में पांच अतिरिक्त कर्मचारी देने को कहा गया था, किन्तु अभी तक उनकी भर्ती नहीं हुई, जिसके चलते उन्होंने सफाई नायक को हटाने के लिए 10-12 प्रार्थनापत्र भी दिए हैं, किन्तु उन पर कोई सुनवाई नहीं हुई. इसके अलावा विपक्ष का पार्षद होने की वजह से भी उन्हें कई समस्याओं का सामना करना पड़ता है।

प्रमुख कार्य –

वार्ड के कार्यों को लेकर उमर शरीफ का कहना है कि बजट न होने के चलते वार्ड के कई कार्य अटके पड़े हैं, बावजूद इसके उन्होंने अपनी निधि से वार्ड में वाटर लाइन डलवाने जैसे कई कार्य करवाए हैं, निगम से पार्षदों को अभी तक 25 लाख का ही बजट दिया गया है, जिसमें वह 2-4 गलियों का आधा- अधूरा निर्माण ही करा पाए हैं, वहीं अगले बजट में भी 40 लाख रूपये देने की ही बात की जा रही, जो कि सपा सरकार की तुलना में काफी कम है।

Related News

Leave a Reply