trending now

लखनऊ हिंदी दैनिक‘आज’ के वरिष्ठ संवादाता कल्याण सिंह ने खुद को गोली मारी

कमल नाथ होंगे मध्यप्रदेश के नए मुख्यमंत्री

अब जेल में ही बीतेगी बाकी उम्र, हत्या के एक और मामले में रामपाल को उम्र कैद की सजा

नहीं रहे गंगा के असली पुत्र जीडी अग्रवाल गंगा को बचाने के लिए 111 दिनों से कर रहे थे अनशन

भीड़ तन्त्र में कोई भी सुरक्षित नहीं हरियाणा DIG की हुई पिटाई

Total Visitors : 45

हरियाणा में डीआईजी की बेरहमी से पिटाई, वीडियो वायरल ...

हरियाणा के विजिलेंस ब्यूरो के डीआईजी रोडरेज का शिकार हो गए। इस घटना का वीडियो वायरल हुआ है, जिसमें उनके मुंह से खून निकलता दिखाई दे रहा है।

हरियाणा में रोड रेज का एक मामला सामने आया है, जिसमें भीड़ द्वारा राज्य के विजिलेंस ब्यूरो के डीआईजी हेमंत कल्सन की पिटाई की गई। घटना राज्य के पिंजौर के नजदीक 23 सितंबर की बताई जा रही है। मामला प्रकाश में तब आया जब इस घटना से जुड़े तीन वीडियो क्लिप पिछले दो दिनों से वायरल होने लगे। इस मामले में किसी तरह की प्राथमिकी दर्ज नहीं करवाई गई थी। पिंजौर थाने एक डीडीआर दर्ज करवाया गया था, जिसमें बताया गया है कि डीआईजी कल्सन और एक आदमी को स्थानीय लोगों से बहस के दौरान एक किसान, जो समझौता करवाने आया था, ने थप्पड़ मारे थे। घटना के बाद डीआईजी कल्सन ने खुद का मेडिकल जांच और एक्स-रे करवाया था, जिसमें बताया गया कि उनके सिर, चेहरे और दांत में किसी तरह की चोट नहीं आयी।

पिंजोर पुलिस थाने के सूत्रों के मुताबिक समझौता पत्र में उस व्यक्ति के नाम का उल्लेख नहीं किया गया जिसने उनकी पिटाई की थी। वहीं वायरल वीडियो क्लिप में डीआईजी कल्सन सादे कपड़े में दिखते हैं उनके मुंह से खून निकल रहा है और वे हरियाणा पुलिस के डीआईजी के रूप में खुद का परिचय दे रहे हैं। कह रहे हैं, “भाई गलती हो गई। हाथ जोड़ दिए और क्या करूं?” डीआईजी कल्सन जो पंचकूला के सेक्टर 17 में विजिलेंस स्टेशन में पोस्टेड हैं उनहोंने  इस घटना की पुष्टि की है।
उन्होंने कहा, “यह घटना उस समय हुई जब मैं अपने भाई के घर पिंजौर से पंचकूला सेक्टर 17 आ रहा था। मेरे साथ दोस्त राजेश वशिष्ठ थे और मैं खुद गाड़ी चला रहा था। बाईपास के शुरू में ही एक शराब दुकान है, जहां कई गाडि़यां खड़ी की गई थी। इस दौरान एक स्कार्पियो ड्राईवर ने बेतरतीब ढ़ंग से गाड़ी चलाते हुए मुझे ओवरटेक किया। मैंने कुछ दूर तक उसका पीछा किया। पीसीआर को बुलाया और ड्राईवर को उनके हाथों में सौंप कड़ी कार्रवाई करने की मांग की। मैंने ड्राईवर को तीन-चार थप्पड़ भी मारे। अचानक शराब दुकान के बाहर खड़ी भीड़ वहां आ पहुंची और मेरे साथ दुर्व्यवहार किया। मैंने उनसे हिंसा न करने का आग्रह किया।”

डीआईजी कल्सन आगे बताते हैं, “मैं पिंजौर में कुछ लोगों को जानता था और वे मौके पर भी पहुंच गए। इसके बाद मैंने जिस ड्राईवर को थप्पड़ मारा था, वह मेरे एक दोस्त का जानने वाला निकला। हालांकि, अभी मुझे उस ड्राईवर का नाम याद नहीं है। इसके बाद हम सब पिंजौर गार्डेन पहुंचे और हमारे बीच समझौता हुआ। वह एक भीड़ थी, जिसने मुझपर हमला किया था। उसमें जरूर असमाजिक लोग शामिल होंगे। वह मात्र एक गलतफहमी थी। मुझे गंभीर चोट नहीं लगी। मैंने अपने चेहरे, सर और दांत का एक्स-रे करवाया। रिपोर्ट नार्मल रही।”

Related News

Leave a Reply