Total Visitors : 1 1 5 9 7 8

4 से 14 वर्ष के बच्चों के लिए सांध्यकालीन स्कूल खोले जाएंगे ...

 स्कूल छोड़ने वाले बच्चों के लिए खुलेंगे सांध्यकालीन विद्यालय, रुचि के अनुसार मिलेगा प्रशिक्षण

यूपी:स्कूल छोड़ने (ड्रॉप आउट) वाले 4 से 14 वर्ष के बच्चों के लिए सभी जिलों में सांध्यकालीन स्कूल खोले जाएंगे। इन बच्चों को हर हाल में स्कूल से जोड़ने के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश के बाद बेसिक शिक्षा विभाग ने इसकी कवायद शुरू की है।

दरअसल, विभाग के सर्वे में साल 2019-20 में ड्रॉप आउट 1 लाख 3 हजार 699 बच्चे चिह्नित किए गए हैं। ये बच्चे परिवार की आर्थिक स्थिति खराब होने से मजदूरी करने को मजबूर हैं। इसलिए वे चाहकर भी स्कूल नहीं जा पाते हैं। 

ऐसे बच्चों के लिए विभाग ने सभी जिलों में सांध्यकालीन स्कूल संचालित करने की तैयारी शुरू की है। शुरुआत में सभी जिलों में एक-एक सांध्यकालीन स्कूल खोला जाएगा। प्रयोग सफल होने पर इन स्कूलों की संख्या बढ़ाई जाएगी। 

सांध्यकालीन स्कूलों में बच्चों को पढ़ाई के साथ उनकी रुचि के अनुसार विभिन्न कार्यों का प्रशिक्षण भी दिया जाएगा। कोशिश होगी कि जिस कार्य में वे लगे हैं, उसी का प्रशिक्षण और प्रमाण पत्र देकर उनकी क्षमता बढ़ाई जाए।

अमेठी समेत पांच जिलों में खुलेंगे डायट

विभाग ने अमेठी, गाजियाबाद, संभल, कासगंज और शामली जिलों में डायट की स्थापना का प्रस्ताव भी सरकार को दिया है। इसके अलावा बहराइच डायट में गर्ल्स हॉस्टल के साथ दस अन्य जिलों के डायट में भी गर्ल्स हॉस्टल खोलने का प्रस्ताव दिया है।

मॉडल स्कूलों में होगी डिजिटल पढ़ाई

प्रदेश के हर ब्लॉक में खुलने वाले एक अंग्रेजी और एक हिंदी माध्यम मॉडल स्कूल में डिजिटल लर्निंग की व्यवस्था भी होगी। कक्षाओं में कंप्यूटर और प्रोजेक्टर के जरिए पढ़ाई कराई जाएगी। 

Related News

Leave a Reply