trending now

लखनऊ हिंदी दैनिक‘आज’ के वरिष्ठ संवादाता कल्याण सिंह ने खुद को गोली मारी

कमल नाथ होंगे मध्यप्रदेश के नए मुख्यमंत्री

अब जेल में ही बीतेगी बाकी उम्र, हत्या के एक और मामले में रामपाल को उम्र कैद की सजा

नहीं रहे गंगा के असली पुत्र जीडी अग्रवाल गंगा को बचाने के लिए 111 दिनों से कर रहे थे अनशन

भीड़ तन्त्र में कोई भी सुरक्षित नहीं हरियाणा DIG की हुई पिटाई

Total Visitors : 158

राजेश साहनी की पत्नी को ओएसडी के पद पर नियुक्त किया ...

कुछ ही दिनों पहले ही लखनऊ में अपने ऑफिस में एक जाबांज पीपीएस अफसर राजेश साहनी ने खुद को गोली मारकर आत्महत्या कर ली थी। आज उनके जन्मदिन के अवसर पर डीजीपी ऑफिस की तरफ से उनकी पत्नी को तोहफा दिया गया है। डीजीपी मुख्यालय ने पीपीएस राजेश साहनी की पत्नी को ओएसडी के पद पर नियुक्त किया है। इसके लिए मुख्यालय ने नियुक्ति पत्र भी जारी कर दिया।

ऑफिस में की थी खुदखुशी

बीते दिनों एएसपी राजेश साहनी ने लखनऊ स्थित एटीएस ऑफिस में खुद को सर्विस पिस्टल से गोली मारकर ख़ुदकुशी कर ली थी। जिसके बाद हर कोई स्तब्ध हो गया था। सवाल सिर्फ एक ही था कि आखिर तेज तर्रार अफसर राजेश साहनी ने ऐसे कदम क्यों उठाए होंगे? इसके पीछे कोई और किरदार तो नहीं है।

सरकार ने ऑफर किया था पद

एटीएस एएसपी राजेश साहनी की स्थिति को देखते हुए सीएम योगी की ओर से घोषणा की गई थी कि उनकी बेटी की पढ़ाई का सारा खर्च राज्य सरकार उठाएगी। इसके साथ ही उनकी पत्नी को पुलिस विभाग में ओएसडी का पद ऑफर किया गया था। इस बारे में सीएम ने कहा था कि यदि उनकी पत्नी सरकारी सेवा में आना चाहती हैं तो उन्हें पुलिस महकमें में विशेष कार्याधिकारी (ओएसडी) का पद दिया जाएगा। इतना ही नहीं, सीएम ने निर्देश दिये थे कि दिवंगत एएसपी परिवार के लिए सरकारी आवास की सुविधा बनी रहेगी।

पीपीएस एसोसिएशन ने की थी मांग

बता दें कि प्रदेश के डीजीपी ओपी सिंह से पीपीएस एसोसिएशन ने साहनी की परिवार के एक सदस्य को नौकरी देने की मांग की थी इसके अलावा एसोसिएशन ने राजेश साहनी के पीड़ित परिवार का खर्च भी वहन करने और परिवार को आजीवन आवास की सुविधा बनाए रखने की मांग की थी। इसके अतिरिक्त परिवार को एक करोड़ की आर्थिक मदद की भी मांग की गई थी सरकार ने अभी पेंशन और आर्थिक मदद पर तो निर्णय नहीं लिया है, लेकिन अन्य मांगें स्वीकार कर ली हैं।

Related News

Leave a Reply