trending now

लखनऊ हिंदी दैनिक‘आज’ के वरिष्ठ संवादाता कल्याण सिंह ने खुद को गोली मारी

कमल नाथ होंगे मध्यप्रदेश के नए मुख्यमंत्री

अब जेल में ही बीतेगी बाकी उम्र, हत्या के एक और मामले में रामपाल को उम्र कैद की सजा

नहीं रहे गंगा के असली पुत्र जीडी अग्रवाल गंगा को बचाने के लिए 111 दिनों से कर रहे थे अनशन

भीड़ तन्त्र में कोई भी सुरक्षित नहीं हरियाणा DIG की हुई पिटाई

Total Visitors : 6 4 2 1 7

पूर्व मुख्यमंत्रीअखिलेश यादव से कानपुर के व्यापारी ...

लखनऊ

पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से कानपुर के व्यापारियों का प्रतिनिधिमंडल मिला और कानपुर जाजमऊ, बंथरा व उन्नाव में टैनरी दिसम्बर से मार्च में बंद करने के योगी सरकार के प्रयास के विरोध में ज्ञापन सौंपा।प्रतिनिधि मण्डल का नेतृत्व कर रहे प्रान्तीय व्यापार मण्डल के प्रदेश अध्यक्ष अभिमन्यु गुप्ता ने कहा कि अखिलेश सरकार में चमड़ा उद्योग में बंदी बहुत सोच समझ कर की जाती थी जिससे ना ही व्यापारियों को नुकसान हो और न ही बेरोजगारी हो। अभिमन्यु गुप्ता ने कहा की अचानक पहली बार इस तरह से होने वाली बन्दी से कानपुर,बंथरा व उन्नाव के टैनरी उद्योग को बहुत बड़ा झटका देगा जिससे 15 से 20 हजार करोड़ का निर्यात प्रभावित होगा और कम से कम 4 लाख लोग बेरोजगार होंगे। साथ ही कई करोड़ रुपये का बिजली खरीद व टैक्स के रूप में राजस्व का भी नुकसान होगा। अभिमन्यु ने कहा की महा कुंभ की तैयारी होनी चाहिए पर तैयारी एसी हो जिससे बेरोजगारी और बर्बादी ना आए ।
कानपुर का टैनरी उद्योग 100 वर्षो से भी ज्यादा पुराना है और पूरी दुनिया में कानपुर को इससे विशेष पहचान मिली है। पहले ही नोट बंदी और जीएसटी ने व्यापार घटाया है, एनपीए बढ़ाया है और बेरोजगारी दोगुनी की है । अभिमन्यु ने आगे कहा की पहले ही इस एक वर्ष में व्यापारी हज़ारों की तादाद में उत्तर प्रदेश से पलायन करने  को मजबूर हुए हैं और अब कानपुर मण्डल से चमड़ा व्यापारी भी दक्षिण में अन्य प्रदेशों में पलायन करने को मजबूर हो जाएगा। दिसम्बर से मार्च के वक़्त बंदी का मतलब है चमड़ा उद्योग का खात्मा। प्रतिनिधि मंडल ने अखिलेश यादव से निवेदन किया की वे केंद्र और प्रदेश सरकार से इस फैसले पर पुनर्विचार करने की मांग कर के व्यापारियों को इंसाफ दिलवाने में मदद करें।

अखिलेश यादव ने इस मौके पर कहा कि भाजपा की सरकार जबसे आई है तब से बेरोजगारी बढ़ी है और व्यापार खत्म हुए हैं। अखिलेश यादव ने कहा की ये सरकार सबको साथ लेकर समस्याओं का रास्ता न निकाल कर उल्टा खत्म करने की नीति अपना रही है।अखिलेश यादव ने चुटकी लेते हुए कहा कि ये सरकार तो हमारे कामो का शिलान्यास और उद्घाटन करने मे ही व्यस्त रहती है।अखिलेश यादव ने आश्वासन दिया कि वे इस मुद्दे को सरकार से उठायेंगे और पूरा प्रयास करेंगे कि किसी भी वर्ग के साथ नाइंसाफी न हो।अभिमन्यु गुप्ता ने जानकारी दी की इस बन्दी के खिलाफ आंदोलन कर सरकार के निर्णय का विरोध किया जाएगा।प्रतिनिधिमंडल मे प्रदेश अध्यक्ष अभिमन्यु गुप्ता, प्रदेश महासचिव हरप्रीत सिंह बब्बर, प्रदेश वरिष्ठ उपाध्यक्ष संजय बिस्वारी, प्रदेश उपाध्यक्ष जितेंद्र सिंह संधू व प्रदेश संरक्षक पवन मनोचा मौजूद थे।

Related News

Leave a Reply