trending now

अब जेल में ही बीतेगी बाकी उम्र, हत्या के एक और मामले में रामपाल को उम्र कैद की सजा

नहीं रहे गंगा के असली पुत्र जीडी अग्रवाल गंगा को बचाने के लिए 111 दिनों से कर रहे थे अनशन

भीड़ तन्त्र में कोई भी सुरक्षित नहीं हरियाणा DIG की हुई पिटाई

पहले छोड़ी गैस सब्सिडी,अब लगा रहे हैं गैस एजेंसियों के चक्कर

सुप्रीम कोर्ट ने मोदी सरकार को लगाई फटकार कहा देश को बताएं राफ़ेल विमान की कीमत

दो अधिकारी निलंबित सात के खिलाफ अनुशासनिक कार्रवाई ...

 लखनऊ

परीक्षा में शामिल 1.07 लाख अभ्यर्थियों में जो भी अपनी कॉपी दुबारा जंचवाना चाहते हैं उन्हें 11 से 20 अक्टूबर तक ऑनलाइन आवेदन करना होगा

उत्तर प्रदेश में बेसिक शिक्षा विभाग में हुई सहायक शिक्षक भर्ती में गड़बड़ियों की पुष्टि होने के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जांच कमेटी की रिपोर्ट पर परीक्षा नियामक प्राधिकारी के तत्कालीन रजिस्ट्रार और डिप्टी रजिस्ट्रार को निलंबित कर दिया हैअन्य सात के खिलाफ अनुशासनिक कार्रवाई की जाएगी। 353 कॉपियों के मूल्यांकन में मिली गड़बड़ी के आधार पर इन्हें जांचने वाले परीक्षक भी नपेंगे।

हाईकोर्ट तक पहुंचा था मामला

प्रदेश में 68,500 सहायक शिक्षक के पदों पर भर्ती के लिए लिखित परीक्षा में महज 41, 556 अभ्यर्थी ही पास हुए थे।
[9:03 PM, 10/6/2018] Shadab Ansari: जिनमें  40,700 को 5 सितंबर तक नियुक्ति पत्र जारी किए गए थे। इसी दौरान कॉपियों के मूल्यांकन में गड़बड़ियों और पास अभ्यर्थियों को भी रिजल्ट में फेल दिखाए जाने की शिकायतें का मामला हाईकोर्ट तक पहुंचा था।

भूसरेडी की अध्यक्षता में बनाई गई थी जांच कमिटी


इसको संज्ञान लेते हुए सीएम योगी आदित्यनाथ ने परीक्षा नियामक प्राधिकारी की सचिव रूबी सिंह को आठ सितंबर को निलंबित कर दिया था। साथ ही आईएएस संजय आर. भूसरेडी की अध्यक्षता में तीन सदस्यीय जांच कमिटी बनाई थी। कमिटी को एक सप्ताह की मोहलत थी लेकिन करीब एक महीने बाद रिपोर्ट सौंपी गई इसको लेकर हाईकोर्ट ने भी नाराजगी जाहिर की इस दौरान सभी 1.07 लाख कॉपियों को स्क्रूटनी भी कमिटी ने कराई।

 जांच में यह मिले ये तथ्य- 


353 कॉपियों में मिली हैं गड़बड़ियां।

285 शिकायतें मिली थी परीक्षा संबंधी।

53 अभ्यर्थी फेल होने के बाद भी पा गए नौकरी।

51 पास अभ्यर्थी पास थे, फेल दिखाए गए थे, मिलेगी नौकरी।

40 को सही जवाब पर भी नंबर नहीं मिले।

60 कॉपियों में कटिंग/ओवरराइटिंग के चलते नंबर नहीं मिले, जबकि 5 को दे दिए गए।

158 अन्य कॉपियों का पुनर्मूल्यांकन होगा।

Related News

Leave a Reply