trending now

लखनऊ हिंदी दैनिक‘आज’ के वरिष्ठ संवादाता कल्याण सिंह ने खुद को गोली मारी

कमल नाथ होंगे मध्यप्रदेश के नए मुख्यमंत्री

अब जेल में ही बीतेगी बाकी उम्र, हत्या के एक और मामले में रामपाल को उम्र कैद की सजा

नहीं रहे गंगा के असली पुत्र जीडी अग्रवाल गंगा को बचाने के लिए 111 दिनों से कर रहे थे अनशन

भीड़ तन्त्र में कोई भी सुरक्षित नहीं हरियाणा DIG की हुई पिटाई

Total Visitors : 84

27 दिसंबर को संदिग्ध परिस्थितियों में घर सेलापता हो गये थे.. ...

शामली में देर शाम आरटीआई कार्यकर्ता का शव मिलने से सनसनी फैल गई। पुलिस के अनुसार मृतक की पहचान मुरादाबार के आरटीआई कार्यकर्ता के रूप में हुई है। मृतक का नाम कासिम सैफी है जांच पड़ताल में पता चला है कि युवक की हत्या गोली मारकर की गई है। सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची और घटना की जानकारी ली।

घटना कांधला थानाक्षेत्र के भभीसा गांव की है। जहां एक युवक का शव मिलने से हड़कंप मच गया। पुलिस के मुताबिक मृतक पिछले 27 दिसंबर से लापता चल रहा था। बताया जा रहा है कासिम सैफी 14 दिन पूर्व घर से संदिग्ध परिस्थितियों में लापता हो गये थे। लापता होने के बाद कासिम के परिजनों ने अपहरण की आशंका जताते हुए थाना पाकबड़ा में अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था। जिसके बाद पुलिस ने मामला दर्ज कर कासिम की तलाश शुरू कर दी थी। जिस पर मुरादाबाद पुलिस ने इस मामले से जुड़े एक अभियुक्त को गिरफ्तार कर लिया था। पकड़े गए आरोपी की निशानदेही पर मुरादाबाद पुलिस कांधला पहुंची और पकड़े गए अभियुक्त की बताई गयी जगह पर पहुंचे जहां पर कासिम का शव एक के खेत से बरामद कर लिया।

मृतक कासिम को मुरादाबाद से अपहरण कर शामली लाया गया था और कांधला के जंगलों में लाकर गोलियों से भूनकर मौत के घाट उतार दिया। मृतक के शव को पुलिस ने कब्जे में कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है हालांकि मुरादाबाद पुलिस के मुताबिक कासिम हत्याकांड में कई सफेदपोश नेताओं का हाथ है।

Related News

Leave a Reply