trending now

लखनऊ हिंदी दैनिक‘आज’ के वरिष्ठ संवादाता कल्याण सिंह ने खुद को गोली मारी

कमल नाथ होंगे मध्यप्रदेश के नए मुख्यमंत्री

अब जेल में ही बीतेगी बाकी उम्र, हत्या के एक और मामले में रामपाल को उम्र कैद की सजा

नहीं रहे गंगा के असली पुत्र जीडी अग्रवाल गंगा को बचाने के लिए 111 दिनों से कर रहे थे अनशन

भीड़ तन्त्र में कोई भी सुरक्षित नहीं हरियाणा DIG की हुई पिटाई

Total Visitors : 86

परिजनों का आरोप है कि, रात मे घर में घुस गई और बेटी को मारा ...

उत्तर प्रदेश के मुखिया योगी आदित्यनाथ की मित्र पुलिस अक्सर अपने नये नये कारनामों से सुर्खियों में रहती है। ताजा मामला फतेहपुर जनपद का है। जहां पुलिस नाबालिग किशोरी को भगा ले जाने वाले आरोपियों के यहां दबिश ना देकर पड़ोस की रहने वाली निर्दोष छात्रा के घर पहुंच गई। परिजनों का कहना है कि पुलिस ने छात्रा के साथ मारपीट कर उसे छत से फेंक दिया। गांव वालो ने घायल छात्रा को एसपी ऑफिस ले जाकर जमकर हंगामा काटा।

फतेहपुर जिले के थाना हथगांव इलाके के भादरमऊ गांव में तीन आरोपियों पर एक नाबालिग छात्रा को भगाने का आरोप था। जिसे पकड़ने के लिए पुलिस गांव में पहुंची थी। लेकिन पुलिस ने आरोपियों के घर पर दबिश देने के बजाय दूसरी छात्रा के घर पहुंच गई और उसके साथ मारपीट शुरू कर दी। पुलिसवालों ने छात्रा को घर की छत से नीचे फेंक दिया जिससे उसका पैर टूट गया।
पुलिसवालों की इस हरकत से गुस्साए ग्रामीणों ने छात्रा को घायल अवस्था में लेकर एसपी कार्यालय पहुंच गए और हंगामा करने लगे। परिजनों का आरोप है कि, रात में पुलिसवाले लड़की को भगाने वाली छात्रा के घर न जाकर उनके घर में घुस गई और उनकी बेटी के साथ मारपीट शुरू कर दी। पुलिसवालों ने छात्रा को घर की छत से नीचे फेंक दिया जिससे उसका पैर टूट गया। एसपी फतेहपुर का कहना है कि, मामले की जांच कराई जा रही है और जो भी इस मामले में आरोपी होंगे उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। एसपी ने बताया कि, परिजनों के आरोप के आधार पर जांच की जा रही है।

Related News

Leave a Reply