trending now

लखनऊ हिंदी दैनिक‘आज’ के वरिष्ठ संवादाता कल्याण सिंह ने खुद को गोली मारी

कमल नाथ होंगे मध्यप्रदेश के नए मुख्यमंत्री

अब जेल में ही बीतेगी बाकी उम्र, हत्या के एक और मामले में रामपाल को उम्र कैद की सजा

नहीं रहे गंगा के असली पुत्र जीडी अग्रवाल गंगा को बचाने के लिए 111 दिनों से कर रहे थे अनशन

भीड़ तन्त्र में कोई भी सुरक्षित नहीं हरियाणा DIG की हुई पिटाई

Total Visitors : 57

छापेमारी में 1500 से ज्यादा मिलावटी खाद की बोरियां मिली हैं ...

 उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में विभिन्न फर्टिलाईजर कंपनियों के नाम से अलग-अलग प्रकार के नकली खाद बनाने वाली फैक्ट्री का भंडाफोड़ कर एसटीएफ ने बड़ी सफलता हासिल की। एसटीएफ ने मंगलवार को 11.237 बोरी नकली खाद के साथ पांच आरोपियों को गिरफ्तार किया है। पकड़े गए आरोपियों के खिलाफ लखनऊ के बाजारखाला थाने में मुकदमा दर्ज किया गया। एसटीएफ ने लखनऊ के ठाकुरगंज और ऐशबाग इलाके में मिलावटी खाद बनाने वाली फैक्ट्री पर छापेमारी की। टीम की छापेमारी में मिलावटी खाद से भरी बोरियां बरामद हुई। टीम ने 6 से ज्यादा कर्मचारियों को हिरासत में लेकर पूछताछ की। गिरफ्तार किए गए आरोपियों की पहचान गुरूप्रीत सिंह, मो. वसीम , जगजीत सिंह , राकेश रावत और कृपाशंकर मौर्या के रूप में हुई है। प्राप्त जानकारी के अनुसार,सभी गोदाम कटाई मिल के पास बुक स्टोर चलाने वाले अरविंद के हैं। टीम ने गोदाम से चंबल फर्टिलाइजर और इफ्को कंपनी की भी खाली बोरियां बरामद की हैं। एसटीएफ की टीम अरविंद की तलाश में दबिश दे रही हैं।

इस मामले में एसटीएफ एसएसपी अभिषेक सिंह ने बताया कि ठाकुरगंज के कटाई मिल के पास एक गोदाम में छापेमारी में 1500 से ज्यादा मिलावटी पोटाश की खाद की बोरियां मिली हैं  । इन बोरियों पर इण्डियन पोटाश लिमिटेड की फर्जी मार्किंग थी। ऐशबाग के भूसा मण्डी तिराहे के पास से भी गोदाम में 3500 से अधिक मात्रा में मिलावटी खाद की बोरियां बरामद की गईं।

Related News

Leave a Reply