trending now

लखनऊ हिंदी दैनिक‘आज’ के वरिष्ठ संवादाता कल्याण सिंह ने खुद को गोली मारी

कमल नाथ होंगे मध्यप्रदेश के नए मुख्यमंत्री

अब जेल में ही बीतेगी बाकी उम्र, हत्या के एक और मामले में रामपाल को उम्र कैद की सजा

नहीं रहे गंगा के असली पुत्र जीडी अग्रवाल गंगा को बचाने के लिए 111 दिनों से कर रहे थे अनशन

भीड़ तन्त्र में कोई भी सुरक्षित नहीं हरियाणा DIG की हुई पिटाई

Total Visitors : 129

महंगी पड़ रही है धान की कटाई महंगे डीजल के कारण ...

अलीगढ़

शहरी हलकों के बाद अब राज्य का एग्रीकल्चर सैक्टर भी तेल की आसमान छूती हुई कीमतों की तपिश झेल रहा है। सूबे के किसान अब डीजल की कीमतों में हुई बढ़ौतरी की सीधी मार झेल रहे हैं।धान की कटाई शुरू हो चुकी है,जो किसानों को डीजल की बढ़ी हुई कीमतों के चलते महंगी पड़ रही है।उत्तर प्रदेश के अधिकतर हिस्सों में हाथ से कटाई बंद हो चुकी है।अब कम्बाइन से ही कटाई की जाती है।कटाई के बाद ट्रैक्टर-ट्राली पर ही फसल को मंडी ले जाया जाता है और कम्बाइन व ट्रैक्टर डीजल चालित होने से इन पर आने वाला खर्च बढ़ गया है।रविवार को अलीगढ़ में पैट्रोल का रेट जहां 81.22 रुपए को पार कर गया वहीं डीजल की कीमत 70रुपए प्रति लीटर के करीब जा पहुंची।
वैट दर घटे, तभी बनेगी बात
पैट्रोल पम्प डीलर्स एसोसिएशन के पदाधिकारियों की मानें तो केन्द्र की तरफ से टैक्स घटाने से उत्तर प्रदेश के साथ लगते राज्यों में डीजल व पैट्रोल का दाम कम हो गए हैं।उत्तर प्रदेश पंजाब की में हरियाणा में डीजल 1.87 रुपए,जम्मू-कश्मीर में 1.70 रुपए,हिमाचल प्रदेश में 2.42 रुपए और चंडीगढ़ में 3.93 रुपए प्रति लीटर सस्ता है।पंजाब में डीजल की बिक्री पर 17.25 फीसद वैट वसूला जा रहा है,जो तमाम पड़ोसी राज्यों से ज्यादा है। हरियाणा में डीजल पर 13.83 फीसद, जम्मू-कश्मीर में 16.40, हिमाचल प्रदेश में 11.6 वैट वसूला जा रहा है।हैरानीजनक तथ्य है कि चंडीगढ़ में कृषि अधीन क्षेत्र ही नहीं है जहां डीजल पर क्षेत्र में सबसे कम 9.02 फीसद वैट वसूला जा रहा है।

Related News

Leave a Reply