trending now

लखनऊ हिंदी दैनिक‘आज’ के वरिष्ठ संवादाता कल्याण सिंह ने खुद को गोली मारी

कमल नाथ होंगे मध्यप्रदेश के नए मुख्यमंत्री

अब जेल में ही बीतेगी बाकी उम्र, हत्या के एक और मामले में रामपाल को उम्र कैद की सजा

नहीं रहे गंगा के असली पुत्र जीडी अग्रवाल गंगा को बचाने के लिए 111 दिनों से कर रहे थे अनशन

भीड़ तन्त्र में कोई भी सुरक्षित नहीं हरियाणा DIG की हुई पिटाई

Total Visitors : 57

पहले गोली और बम से मारा, फिर पेट्रोल डालकर शव को जलाया ...

प्रयागराज। 

कुंभ को लेकर सरकार की प्रयागराज पर खास नजर है। लेकिन पिछले दिनों प्रयागराज में जिस तरह की घटनाएं सामने आ रही हैं। उसके बाद सवाल खड़ा होने लगा है कि क्या जिले में कानून का नहीं क्रिमिनल्स का राज है। ऐसा इसलिए कहा जा रहा है क्यों कि पिछले कुछ दिनों में जिले में ताबड़तोड़ ऐसी वारदातें हुई हैं। जो पुलिस महकमे पर सीधे सवालिया निशान खड़ा कर रही हैं।

प्रयागराज झूंसी के मल्लाही टोला में दो युवकों की हत्या से सनसनी

ताजा मामला प्रयागराज के झूंसी के मल्लाही टोला का है। जहां देर शाम सनसनीखेज वारदात हुई। यहां पहले बम-गोलियों से हमलाकर दो किशोरों की हत्या की गई और फिर पेट्रोल छिड़ककर उनके शव को सरेआम जला दिया गया। जानकारी मिली तो मृतक के परिजनों और गाववालों ने आरोपी पूर्व सभासद की दुकान में तोड़फोड़ और आगजनी की, जिसकी सूचना मिलते ही कई थानों की फोर्स लेकर अफसर मौके पर पहुंच गए।

 नया झूंसी में कलवारी टोला और मल्लाही टोला आस-पास मौजूद हैं। कलवारी टोला के रहने वाले रवि निषाद(17) और वासू निषाद (16) शाम सात बजे के करीब मल्लाही टोला गए थे। वहां वह पूर्व सभासद विष्णु निषाद की किराना की दुकान पर कुछ सामान लेने पहुंचे। इसी दौरान किसी बात को लेकर उनकी विष्णु से नोकझोंक हो गई। बात इतनी बढ़ी कि दोनों पक्षों में मारपीट होने लगी। विष्णु ने शोर मचाया तो उसके परिवारवालों के साथ ही अन्य लोग भी आ गए और रवि-वासू पर टूट पड़े। साथ ही बम-गोलियों से भी हमला बोल दिया। ताबड़तोड़ हमले में दोनों को संभलने का भी मौका नहीं मिला और उनकी मौके पर ही मौत हो गई। हमलावरों का इसके बाद भी मन नहीं भरा और उन्होंने पेट्रोल छिड़ककर दोनों के शव आग के हवाले कर दिए। इसके बाद घर पर ताला लगाकर फरार हो गए।

उधर सूचना मिली तो मृतकों के परिजनों में कोहराम मच गया। आक्रोशित घरवालों व ग्रामीणों ने आरोपी के घर धावा बोल दिया और जमकर तोड़फोड़ करने के बाद वहां खड़ी दो बाइकें फूंक दी। बवाल की सूचना मिली तो पुलिस पहुंची। एसएसपी नितिन तिवारी के साथ ही आईजी मोहित अग्रवाल भी पहुंच गए। तनाव को देखते हुए कई थानों की फोर्स को तैनात किया गया है। हत्या की वजह अभी साफ नहीं हो पायी है लेकिन बताया जा रहा है कि दोनों पक्षों के बीच पुरानी रंजिश चल रही थी। एक साल पहले भी उनके बीच विवाद हुआ था। सोमवार को फिर विवाद हुआ, जिसके बाद एक पक्ष हमलावर हो गया।

Related News

Leave a Reply