trending now

लखनऊ हिंदी दैनिक‘आज’ के वरिष्ठ संवादाता कल्याण सिंह ने खुद को गोली मारी

कमल नाथ होंगे मध्यप्रदेश के नए मुख्यमंत्री

अब जेल में ही बीतेगी बाकी उम्र, हत्या के एक और मामले में रामपाल को उम्र कैद की सजा

नहीं रहे गंगा के असली पुत्र जीडी अग्रवाल गंगा को बचाने के लिए 111 दिनों से कर रहे थे अनशन

भीड़ तन्त्र में कोई भी सुरक्षित नहीं हरियाणा DIG की हुई पिटाई

मुकदमा बांदा अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश ने दर्ज कराया . ...

हाल ही में यूपी के रायबरेली जेल का एक वीडियो वायरल हुआ था। जिसमें साफ देखा जा सकता था कि किस तरह कैदी जेल के अंदर भी सुख सुविधाओं के साथ रहते हैं। साथ ही उनकी दबंगई अंदर भी नहीं खत्म हुई है। इस मामले में संज्ञान लेते हुए कुछ पुलिसकर्मियों को सस्पेंड भी किया गया था। अब मामला सामने आ रहा है कानपुर के जिला जेल का जहां जेल अधीक्षक को नोटिस जारी किया गया है। बताया जा रहा है कि जेल अधीक्षक पर यह आरोप लगा है कि न उन्होंने आरोपी को अदालत में पेश किया न ही कोर्ट के स्पष्टिकरण का जवाब दिया। जिसके बाद कानपुर देहात के जेल अधीक्षक के खिलाफ धारा 349 सीआरपीसी के तहत मुकदमा दर्ज कराया गया है। यह मुकदमा बांदा के पंचम अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश ने दर्ज कराया है। साथ ही अधीक्षक को 13 दिसंबर को अदालत में पेश होकर सफाई देने के लिए कहा है।
हत्या के मामले में आरोपी अजय पाल (धारा 302 व 120बी आईपीसी) को अदालत में पेश करने के लिए पंचम अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश/गैंगेस्टर एक्ट खलीकुज्जमां ने 19 नवंबर को कानपुर जेल अधीक्षक को नोटिस जारी किया था। साथ ही पूर्व के आदेश का अनुपालन न करने पर अदालत में पेश होकर स्पष्टीकरण देने का आदेश दिया था। बुधवार 28 नवंबर को इस मामले की सुनवाई थी लेकिन अधीक्षक नहीं हाजिर हुए और न ही आरोपी को भेजा। अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश ने जेल अधीक्षक के प्रकीर्णवाद दर्ज करने का आदेश दिया। 13 दिसंबर को अदालत में उपस्थित होने का आदेश दिया है।

Related News

Leave a Reply